Chhavi Rajawatछवि राजावत, सरपंच (ग्राम सोडा, जिला टोंक, राजस्थान) की आप सभी को यह सलाह है किभाषा को इतना महत्त्व देने कि आवश्यकता नहीं| यह तो सिर्फ एक संचार का माध्यम है| असल खजाना तो एक व्यक्ति का मन, ह्रदय और आत्मा है, चाहे वह ग्रामीण हों या शहरी, अमीर हों या गरीब| अप्रतिम व्यक्ति तो कहीं से किसी भी क्षेत्र से उभर सकते हैं| हमें एक अच्छे मन और आत्मा के निर्माण पर जोर देना चाहिए, जो हमें आध्यात्म (ना कि धर्म) की ओर ले जाए, क्योंकि आध्यात्म ही वो माध्यम है, जो एक मनुष्य को अपने साथियों और प्रकृति का आदर करना सिखाता है| भाषा हमें यह सब नहीं सिखा सकती है|” (छवि राजावत का बहुत ही मार्गदर्शक और प्रेरक साक्षात्कार पढ़ने के लिए क्लिक करें)

अत: सर्वप्रथम तो स्वयं के विचार/मानसिकता (Mindset) को ठीक करने और अंग्रेज़ी के सम्बन्ध में फैली भ्रांतियों से भ्रमित नहीं होने की आवश्यकता है | जैसे कि अंग्रेज़ी मीडियम से पढ़ा हुआ होना, अच्छे शहरी स्कूल से पढ़ा होना, चंद दिनों/घंटों में अंग्रेज़ी सीखें, अच्छी व्याकरण (Grammer) और शब्दावली (Vocabulary) का ज्ञान आवश्यक आदि-आदि|

मेरी इस बात को समझाने के लिए आप यही बातें अपने हिंदी भाषा के ज्ञान पर लागू करके देखिये कि आप हिंदी भाषा के इन पहलुओं के बारे में भी कितना जानते हैं|

spoken_engilsh_iconआप सबसे पहला सबक तो यह समझिये की Communication अर्थात संवाद/संचार एक बहुत ही महत्वपूर्ण और अत्यावश्यक स्किल है| भले ही वह किसी भी भाषा में हो| और यदि अंग्रेजी एक वैश्विक भाषा है तो इसे सिखाना, समझना और अपनाना चाहिए| यह आपकी प्रगति और विकास में बहुत सहायक होगी| और दूसरा सबक यह की अंग्रेज़ी भाषा कोई गाजर का हलुआ नहीं है, जैसा की अंग्रेज़ी भाषा सिखाने वाले दावा करते हैं कि 10 दिनों में या 100 घंटे में अंग्रेज़ी सीखिए| आप इन सब चक्करों / छलावे में ना पड़कर इस वैश्विक भाषा को थोड़ा वैज्ञानिक / व्यवस्थित तरीके से, अपनी पूरी लगन के साथ नियमित प्रयास और अभ्यास से सीखें और इसे इस तरह आसानी से सीखा जा सकता है|

इसके लिए मैं आपको कुछ आसान तरीके बताने का प्रयास करता हूँ जो आपके लिए अंग्रेज़ी सीखना सुगम बनायेंगे:

  • अंग्रेज़ी सिखाने के इस कार्य/प्रयास को एक मज़बूरी या बोझ की तरह शुरू ना करें बल्कि इस पूरी प्रक्रिया को एक खेल गतिविधि के रूप में आनंद और उत्साह के साथ शुरू करें और दैनिक जीवन का हिस्सा बना लें|
  • नियमित रूप से अंग्रेज़ी में बोलना शुरू कीजिये और इसे ध्यान से सुनाने और समझने का प्रयास कीजिये| जैसे; रोज़ एक नए विषय के बारे में कम से कम 15 मिनट ज़ोर से बोलकर पढ़ें| इसके लिए आप अंग्रजी अखबार या इंटरनेट पर उपलब्ध अंग्रेज़ी अखबार या मैगज़ीन का उपयोग कर सकते हैं|
  • नियमित रूप से अंग्रजी समाचारों को सुनें और समझने का प्रयास करें| अच्छी अंग्रेज़ी मूवीज जिसमें अंग्रेज़ी के सब-टाईटल्स हों उन्हें देखे और समझने का प्रयास करें|
  • Pencil_Lips_1अपने होठों के बीच में पेन्सिल दबा कर (धीरे से कि आपको चोट ना लगे और अधिक दर्द ना हो) लगभग 5 से 15 मिनट तक (आपसे जितना हो सके) ज़ोर से बोल कर अंग्रेज़ी बोलने का प्रयास करें| इसके नियमित प्रयास से आपको अंग्रेज़ी भाषा के अनुरूप टंग-ट्विस्टिंग (जीभ के घुमाव / लचीलापन) में आसानी होने लगेगी और यह शब्दों और भाषा के सही उच्चारण में भी सहायक होगा|
  • शब्दों वाक्यों का सही उच्चारण सुनने और दोहराने का प्रयास करने के लिए आप गूगल ट्रांसलेट का उपयोग कर सकते हैं| इसके लिए आप इस लिंक पर जाएँ फिर इसमें प्रथम भाषा English चुनें, अपना इच्छित अंग्रेजी का वाक्य इसमें टाइप करें या कॉपी-पेस्ट करें और तब Listen के बटन को दबा कर इसे सुनें और दोहराने का प्रयास करें|
  • शब्दों वाक्यों का सही उच्चारण सुनने और प्रयास करने के लिए आप “PDF” फोर्मेट के डोक्यूमेंट का भी उपयोग कर सकते हैं| “PDF” डोक्यूमेंट में “View” ऑप्शन में सबसे नीचे एक “Read Loud Out” ऑप्शन होता है| इसे एक्टिवेट करके आप एक “PDF” डोक्यूमेंट को सुन सकते हैं| साथ ही “PDF” आपको सुनाये जा रहे वाक्यों को सिस्टम द्वारा पढ़े जाने की गति को भी कम/ज़्यादा करने की सुविधा देता है| आप इसे सुन कर स्वयं दोहरा सकते हैं|
  • आप अपनी झिझक दूर करने के लिए कांच के सामने खड़े हो कर अंग्रेज़ी बोलने का प्रयास / अभ्यास करें|
  • शुरुआत से ही सही – गलत की चिंता मत कीजिये और आरम्भ में अंग्रेज़ी की आसान भाषा की पुस्तकों / पत्रिकाओं का उपयोग करें जिन्हें आपको समझना आसान हो|
  • अंग्रेज़ी भाषा बोलना सीखने में अपनी रूचि, लगन बनाए रखें और नियमित अभ्यास करते रहें| यह बहुत आवश्यक है|
  • अंग्रेज़ी सुनने, सीखने और समझने के लिए इंटरनेट पर उपलब्ध साधनों का उपयोग करें| जैसे गूगल ट्रांसलेट, शब्दकोष, यूट्यूब और अनेक फ्री कोर्सेस जो कि इंटरनेट पर उपलब्ध हैं| अधिकाँश लोग इंटरनेट को अश्लील साहित्य देखने और बेतुके पोस्ट करने के लिए दुरुपयोग करते रहते हैं, अपने स्किल डेवेलपमेंट के लिए उपयोग नहीं करते हैं| कृपया आपके भविष्य को अवरुद्ध करने वाली ऐसी गलती ना करें| आपका अमूल्य समय स्वयं समय आपके लिए और इससे भी कहीं अधिक आप स्वयं, आपके परिवार और इस देश के लिए बहुत महत्त्व रखते हैं|
  • उपरोक्त के साथ-साथ नियमित रूप से अंग्रेज़ी भाषा में सोचने का प्रयास और अभ्यास करें|
  • अंग्रेज़ी सीखने के इच्छुक कुछ लोगों का एक समूह बनाएँ| इसके लिए आपके परिवार और मित्रों में से ही कई इच्छुक लोग मिल सकते हैं| इसमें महिलाओं / बालिकाओं को अवश्य शामिल करें| वे बहुत जल्दी सीखती हैं जो समूह में सभी को प्रेरित करेंगी और सीखने में सहायक भी होंगी|
  • यदि अपनी-अपनी व्यस्तताओं के कारण समूह को एक साथ अभ्यास करने का समय ना मिल पाए तो सप्ताह में एक बार सामूहिक रूप से अंग्रेज़ी में चर्चा और अभ्यास अवश्य करें| और इस प्रकार की हर सामूहिक गतिविधि में समूह के ही किसी एक सदस्य को मॉनीटर बनाएँ जो उस दिन की इस सामूहिक गतिविधि को संचालित करेगा| इसमें समयबद्ध रूप से अंग्रेज़ी में चर्चा/ वार्तालाप / वाद-विवाद के लिए दो विषय शामिल कीजिये| एक विषय पहले से तय किया हुआ विषय (जिसे आप पिछली सामूहिक गतिविधि में तय कर सकते हैं) और एक विषय जिसे आप उसी दिन समूह के सामने तय किया करें|
  • उपरोक्त की नियमितता से अंग्रेज़ी भाषा को बोलने / उपयोग करने / उसमें सोचने में आपकी स्किल / प्रवाह (fluency) / आत्मविश्वास बढ़ने लगेगा तब आप धीरे-धीरे अंग्रेज़ी व्याकरण (Grammer), शब्दावली (Vocabulary), सही उपयोग (Correct Usage) और अन्य पहलुओं की ओर ध्यान देना शुरू करें

मेरी मानना है और सभी को मेरा सुझाव है कि अंग्रेजी (English) भाषा को ना तो कोई हौआ मानें और ना ही इससे बैर करें| इसे सीखने का सतत प्रयास करें जिससे अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध अथाह ज्ञान आपके लिए सुगम हो जाएगा और अंग्रेज़ी भाषा में अपनी स्किल विकसित करने से आपके लिए इंटरनेट और अन्य माध्यमों में उपलब्ध ज्ञान / स्किल्स को सीखना, समझना और उसे अमल में लाना आसान हो जाएगा|

मेरी शुभकामनाएँ!!

शुभस्य शीघ्रम…