ISTQB-Certifications

Vipul Kocher_Linkedin

 श्री विपुल कोचर, इंडियन टेस्टिंग बोर्ड (ITB) के प्रेसिडेंट हैं| 

इंडियन टेस्टिंग बोर्ड, इंटरनेश्नल सॉफ्टवेयर टेस्टिंग क्वालिफिकेशन्स बोर्ड  (International Software Testing Qualifications Board (ISTQB)) द्वारा स्वीकृत भारत का राष्ट्रीय बोर्ड है| इंडियन टेस्टिंग बोर्ड (ITB) की स्थापना वर्ष 2004 में की गयी थी और अभी तक ITB ने लगभग 80,000 सॉफ्टवेयर टेस्टर्स को ISTQB के सर्टिफिकेशंस में सर्टिफाई किया है|

ISTQB सर्टिफिकेशंस और भारत में ISTQB सर्टिफाईड टेस्टर्स की मांग, उपलब्धता और रोज़गार में इनके महत्त्व के बारे में हमने श्री विपुल से निम्न प्रश्नों के माध्यम से जानने का प्रयास किया|


 

1.  ISTQB सर्टिफिकेशंस के बारे में संक्षेप में बताएं? क्या ISTQB के सर्टिफिकेशंस ग्लोबल सर्टिफिकेशंस हैं और विश्वभर में इनकी समान रूप से स्वीकृति एवं मान्यता है?

ISTQB सर्टिफिकेशंस वैश्विक सर्टिफिकेशंस हैं और विश्वभर में इनकी एक सामान मान्यता और स्वीकृति है| ये सर्टिफिकेशंस, इंटरनेश्नल सॉफ्टवेयर टेस्टिंग क्वालिफिकेशंस बोर्ड (ISTQB) द्वारा प्रदान किया जाता है| ISTQB एक नॉट-फॉर-प्रॉफिट ऑर्गेनाईजेशन है, जिसका मुख्यालय ब्रुसेल्स, बेल्जियम में स्थित है| ये सर्टिफिकेशंस कई स्तरों (levels) पर उपलब्ध है:

  1. टेक्नीकल टेस्ट एनलिस्ट: कोड स्तर पर या परफ़ॉर्मेंस, सिक्युरिटी, यूज़ेबिलिटी इत्यादि विशेष प्रकार की टेस्टिंग करने वाले टेस्टर्स के लिए उपयुक्त|
  2. टेस्ट एनलिस्ट: सॉफ्टवेयर टेस्टिंग करने वाले टेस्टर्स के लिए उपयुक्त|
  3. टेस्ट मैनेजर: टेस्ट मैनेजर के लिए उपयुक्त|
  • उसके बाद कई एक्सपर्ट लेवल्स हैं, जैसे, टेस्ट ऑटोमेशन, परफ़ॉर्मेंस टेस्टिंग, टेस्ट प्रोसेस इम्प्रूवमेंट, सिक्युरिटी टेस्टिंग, इत्यादि|

ISTQB_Portfolio_20141229_path

2.  भारत में ISTQB के सर्टिफिकेशंस के महत्त्व, स्वीकृति एवं उनकी मांग के बारे में बताएं?

भारत में ISTQB के सर्टिफिकेशंस का बहुत महत्त्व है| भारत ही नहीं बल्की दुनिया भर के ओर्गेनाईज़ेशन्स ISTQB सर्टिफिकेशंस को मान्यता देते हैं और वे चाहते हैं कि उनके टेस्टर्स ISTQB सर्टिफिकेशंस होल्डर्स (धारक) हों| इंडियन टेस्टिंग बोर्ड ने अभी तक लगभग 80,000 से अधिक भारतीय टेस्टर्स को ISTQB सर्टिफाई किया है और विश्वभर में लगभग 4,00,000 से अधिक टेस्टर ISTQB सर्टिफाइड हैं|

3.  क्या ISTQB सर्टिफिकेशंस रोज़गार के बेहतर अवसर उत्पन्न करने में सहायक होते हैं?

ISTQB सर्टिफिकेशन निश्चित रूप से रोज़गार उपलब्ध करवाने में मदद करता है| ISTQB सर्टिफिकेशन होने से ही आपको रोज़गार मिलता हो यह ज़रूरी नहीं है लेकिन जो टेस्टर्स ISTQB सर्टिफाइड हैं आप उनके बारे में एक बात कह सकते हैं की उन्होंने संभवत: सॉफ्टवेयर टेस्टिंग के बारे में पढ़ा है, समझा है और क्योंकि उन्होंने ISTQB सर्टिफिकेशन पास किया है इसलिए नि:संदेह वे सॉफ्टवेयर टेस्टिंग के बारे में जानते हैं| लेकिन वे इससे सॉफ्टवेयर टेस्टिंग में पारंगत हो गए हैं क्या ये कहा जा सकता है? शायद नहीं| यह एक एंट्री लेवल सर्टिफिकेशन है और पारंगतता एक अलग विषय है जो अनुभव से आती है|

पारंगतता के पॉइंट ऑफ़ व्यू (दृष्टिकोण) से हमने साल्ट – स्कूल ऑफ़ एप्लाईड लर्निंग इन टेस्टिंग (SALT- School of Applied Learning in Testing) नाम का एक सर्टिफिकेशन शुरू किया है, जिसमें हम सॉफ्टवेयर टेस्टिंग का मात्र ज्ञान (knowledge) ही नहीं बल्की स्किल्स भी टेस्ट करते हैं|

4.  क्या किसी भी विषय की पढाई/डिग्री के बाद ISTQB सर्टिफिकेशन किया जा सकता है?

हाँ, आप किसी भी विषय की पढाई के बाद ISTQB सर्टिफिकेशन कर सकते हैं| इसके लिए आपको किसी डिग्री की आवश्यकता नहीं है, आप 10वीं, 12वीं के बाद भी कर सकते हैं| हालांकि, यदि आप B.Sc. बाद ISTQB सर्टिफिकेशन करते हैं या आपको कम्यूटर का ज्ञान है तो यह आपके लिए अधिक मददगार होता है| आप इंजीनियरिंग करने के बाद भी ये सर्टिफिकेशन कर सकते हैं|

5.  कौन से ISTQB सर्टिफिकेशंस भारत में सबसे ज्यादा प्रचलित है और क्यों?

ISTQB फाउंडेशन लेवल सबसे ज़्यादा प्रचलित है क्योंकी यह एक एंट्री लेवल सर्टिफिकेशन है| एडवांस लेवल या एक्सपर्ट लेवल सर्टिफिकेशंस के लिए कम से कम 3 वर्ष अनुभव और डिग्री की आवश्यकता होती है

6.  क्या ISTQB सर्टिफिकेशंस की ट्रेनिंग और परीक्षा हिन्दी या अन्य भारतीय भाषाओं में भी होती है?

ISTQB सर्टिफिकेशंस की ट्रेनिंग और परीक्षा फिलहाल केवल अंग्रेज़ी में ही होती है| अभी तक इन्हें हिंदी या अन्य भारतीय भाषाओं में करने के लिए किसी ने मांग नहीं की है| इसलिए यह कहना बड़ा मुश्किल है कि क्या ये हिंदी या अन्य भारतीय भाषाओं में उपलब्ध होना चाहिए?

7.  वर्तमान में भारत में ISTQB के प्रत्येक सर्टिफिकेशन में कितना कार्यबल (workforce) सर्टिफाइड हैं?

वर्तमान में भारत में ISTQB फाउंडेशन लेवल सर्टिफाइड कार्यबल लगभग 75,000 और ISTQB एडवांस लेवल सर्टिफाइड कार्यबल लगभग 5,000 होंगे|

8.  भारत में वर्तमान और भविष्य में किन ISTQB सर्टिफिकेशन्स की मांग सबसे ज़्यादा रहने की संभावना है?

भारत में वर्तमान और भविष्य में ISTQB फाउंडेशन लेवल, इसके अजाईल एक्सटेंशन और एडवांस लेवल सर्टीफिकेशंस की मांग अधिक रहने की उम्मीद है| इसी के साथ में जो नए सर्टीफिकेशंस लॉन्च किये गए हैं, जो ISQI (International Software Quality Institute) ने लॉन्च किये हैं, ISTQB ने नहीं| इनमें से टेस्टिंग, परफ़ॉर्मेंस, ऑटोमेशन और सिक्युरिटी के सर्टीफिकेशंस की मांग भी बढ़ने की काफी उम्मीद है|

9.  भारत में वर्तमान में सॉफ्टवेयर टेस्टिंग के सर्टिफाईड कार्यबल की मांग और उनकी उपलब्धता में कितना अंतर है? मांग और उपलब्धता में इस अंतर को इंडियन टेस्टिंग बोर्ड (ITB) कैसे दूर करेगा?

वर्तमान में भारत में सॉफ्टवेयर टेस्टिंग के सर्टिफाईड कार्यबल की मांग और उनकी उपलब्धता में काफी अंतर है और उसका कारण है कि मांग तो बहुत है लेकिन सर्टिफाईड टेस्टर्स कम मिलते हैं|

सॉफ्टवेयर टेस्टिंग के सर्टिफाईड कार्यबल की मांग और उनकी उपलब्धता में इस अंतर को हम कॉलेज प्रोग्राम के माध्यम से दूर करने की कोशिश कर रहे हैं|

इसके बारे में विस्तार से (http://infotiate.com/software-testing/) इस इंटरव्यू में बताया गया है|

10. ISTQB सर्टिफिकेशन्स की ट्रेनिंग कहाँ से प्राप्त की जा सकती है और इसकी जानकारी कहाँ उपलब्ध रहती है?

ISTQB सर्टिफिकेशन्स की ट्रेनिंग ISTQB अक्रेडिटेड ट्रेनिंग प्रोवाईडर्स से प्राप्त की जा सकती है जिनकी लिस्ट आपको इस लिंक पर मिल सकती है (http://istqb.in/accreditated-training-providers/accredited-traning-providers)|

11. ISTQB सर्टिफिकेशन्स की ट्रेनिंग केवल बड़े शहरों में ही उपलब्ध है या छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में भी ट्रेनिंग की सुविधा उपलब्ध है?

ISTQB सर्टिफिकेशन्स की ट्रेनिंग बड़े शहरों में तो निश्चित ही उपलब्ध है| छोटे शहरों में भी ये ट्रेनिंग उपलब्ध कराई जा सकती है| अनेक ओर्गेनाईज़ेशन्स और कॉलेज के माध्यम से इंडियन टेस्टिंग बोर्ड (ITB) सभी जगह इनकी ट्रेनिंग्स उपलब्ध करने का प्रयास कर रही है|