एजाइल पद्धति से सॉफ्टवेयर विकास और हमारे घर में एजाइल के उपयोग में अंतर!!

एजाइल@होम

एक दिन मैंने अपने एक दोस्त के साथ बात करते समय पाया कि अधिकतर सॉफ्टवेयर इंजिनियर भी इस प्रश्न को लेकर परेशान होते हैं कि एजाइल पद्धति से सॉफ्टवेयर विकास और हमारे घर में एजाइल के उपयोग में क्या अंतर है और क्या वास्तव में एजाइल को हमारे घर में फॅमिली मैनेजमेंट टूल या मेथड के रूप में उपयोग किया जा सकता है| इस ब्लॉग पोस्ट में मैंने इसे संक्षेप में समझाने का प्रयास किया है|

 “जैसा कि हम जानते हैं कि एजाइल और कानबान हमारे कार्य को पूरा करने में सहायता करते हैं| लेकिन इन्हें अपने घर में भी उपयोग करना क्या एक अच्छा विचार है?”

 “यह काम कर सकता है लेकिन यह बहुत कुछ एक परिवार को कंपनी में बदलने जैसा लगेगा और हम इसके प्रबंधक|”

“All About Agile” से कैली वाटर्स (Kelly Waters) जिन्होंने एजाइल किड्स पुस्तक की समीक्षा की थी, उनका भी कानबान को घर में लाने को लेकर यही विचार था|

उनके अनुसार, “हालांकि यह विचार बहुत रोचक है, लेकिन वह सोचते हैं कि बच्चों के साथ प्रबंधन पद्धतियों को अमल में लाना थोड़ा अजीब सा लगता है (हालांकि मेरे बच्चों को निश्चित रूप से प्रबंधन की ज़रूरत है!)| इसलिए मैं कुछ तय नहीं कर सका कि अंतत: मैंने क्या सोचा| मुझे लगता है कि यह उन चीजों में से है जो या तो अच्छी लगेगी या नहीं|”

आप आश्चर्यचकित होंगे पर मैं भी कैली वाटर्स से पूर्णत: सहमत हूँ|

हमारे बच्चे एक प्रॉजेक्ट नहीं हैं (हालांकि कुछ माता-पिता/अभिभावक मुझसे असहमत होंगे 😊)| हमें अपने परिवार का प्रबंधन किसी सख्त “सॉफ्टवेयर प्रॉजेक्ट मैनेजमेंट  मेथडोलोजी” के उपयोग द्वारा नहीं करना चाहिए| इससे ऐसा लगता है कि हमारा परिवार संसाधनों का एक संग्रह मात्र है जिसे क्वालिटी परिणाम देने चाहिए और अच्छा लाभ सुनिश्चित करना है|

यह ज़्यादा आनंददायी बात नहीं लग रही हैं न, या लग रही है?

हालांकि एक परिवार कुछ नियमों एवं सीमाओं में रहता है लेकिन मैं सोचती हूँ और शायद आप भी सहमत होंगे कि एक परिवार में प्रॉजेक्ट मैनेजमेंट से अधिक मनोविज्ञान शामिल होता है|

मनोविज्ञान के कई रोचक सिद्धांत हैं जो परिवारों की संगठन के प्रबंधन से तुलना यह दर्शाने के लिए करते हैं कि किस तरह से मैनेजमेंट तकनीकें और परवरिश की तकनीकें एवं शैलियाँ एक दूसरे के सामान हैं|

एक परिवार में प्रबंधकीय कौशल जैसे संवाद का एक स्वस्थ वातावरण बनाना, स्व-प्रेरणा, संवाद करने की योग्यता-क्षमता, एक समूह के रूप में विचारों को साझा करना या कार्य करना आदि बहुत उपयोगी होते हैं और निश्चित रूप से “एक परियोजना को पूर्ण करने” से कहीं अधिक महत्वपूर्ण भी| लेकिन परिवार को भी कार्यों को पूरा करने की ज़रूरत होती है, जैसे दैनिक कार्यों या टास्क्स के रूप में, जो यदि पूरे नहीं किये जाते तो आगे चल कर समस्या का कारण बनेंगे|

कुछ देर के लिए फिर से एजाइल सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट की दुनिया में चलते हैं|

यहाँ हमारा स्टेटमेंट है: हम कुछ ऐसा प्रदेय (Product) प्रदान करना लक्षित करते हैं जो कि ग्राहक की मांगों को पूरा करने के साथ ही अपेक्षाकृत कम समय अवधि में उच्चतम गुणवत्ता के साथ काम करने या काम में आने लायक हो|

इस शॉर्ट विज़न (यहाँ ध्यान रखने की बात यह है कि एजाइल सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट बहुत से इंजीनियरिंग कार्य-व्यवहारों (practices), उपकरणों और सिद्धांतों के साथ एक लंबा मार्ग है) का तात्पर्य यह है कि हम टीम को सहयोग (collaborate), एक टीम के रूप में कार्य करना और स्व-प्रेरित रहना सिखाते हैं| हम प्रबंधकों को सिखाते हैं कि वह स्टाफ को सशक्त बनाएं और यह समझें कि प्रेरित करना एवं परस्पर संवाद/संपर्क सफलता एवं एक क्वालिटी प्रॉडक्ट प्रदान करने के लिए बहुत प्रमुख हैं| हम स्क्रम और कानबान (Scrum and Kanban) को एक टूल की तरह उपयोग करते हैं| हम सभी पहलुओं के ऊपर विज़ुअलाइज़ेशन (कल्पना) और परस्पर संवाद को कार्य को पूरा करवाने के प्रभावशाली और कार्यकुशल टूल के रूप में सिखाते हैं|

अथवा एक सरल रूप में: हम एक टूल के रूप में एक टास्क बोर्ड का उपयोग करते हैं जो प्रॉजेक्ट टास्क्स की कल्पना करने में हमारी सहायता करता है| हम:

बैकलॉग को रिलीज़ कंपोनेंट्स (घटकों) के प्रबंधन में;

डेली स्टैंड-उप मीटिंग्स को परस्पर संवाद एवं सहयोग के एक उपकरण और स्व-संगठित रहने के साधन रूप में;

रेट्रोस्पेक्टिव को सुधार के साधन के रूप में उपयोग करते हैं|

इसके साथ ही कई अन्य स्क्रम एवं कानबान माइंडसेट टूल्स का भी उपयोग किया जाता है क्योंकि हम प्रदान किये जाने वाले उत्पाद और उसकी क्वालिटी में लगातार सुधार करना चाहते हैं|

लेकिन एजाइल के साथ सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट की बॉटम-लाइन है कि माइंडसेट और टूल्स एक बेहतर प्रदेय प्रदान करने के साधन मात्र हैं (इस मामले में, धन)! यह लक्ष्य नहीं है|

यह सभी व्यवहार कुशलताएँ (soft skills) हम इसलिए सिखाते हैं क्योंकि यह ऐसे किसी भी प्रदेय (Product) को प्रदान करने के लिए प्रमुख होती हैं जो कि ग्राहक की मांगों को पूरा करने के साथ ही अपेक्षाकृत कम समय अवधि में उच्चतम गुणवत्ता के साथ काम करने या काम में आने लायक हो|

घर में इसके बिल्कुल विपरीत स्थिति होती है|

यहाँ लक्ष्य माइंडसेट और एजाइल नज़रिया या रवैया (attitude) है| इसके साधन परियोजना प्रबंधन टूल्स हैं| एजाइल माइंडसेट का उपयोग परिवार में संवाद और टूल्स या तरीकों को सुधारने में किया जाता है ताकि काम पूरा किया जाए|

हम एजाइल परियोजना प्रबंधन टूल्स (टास्क बोर्ड, डेली मीटिंग्स, रेट्रोस्पेक्टिव) का सशक्तिकरण, स्व-प्रेरणा में वृद्धि करने, एक स्वस्थ एवं स्वतंत्र संवाद सिखाने और सुधार के वातावरण के स्तर को बढ़ाने के लिए केवल एक साधन के रूप में उपयोग करते हैं|

आजकल के परिवार आधुनिक परिवार हैं; हमारे पास पूरा करने के लिए बहुत से टास्क्स होते हैं, माता-पिता दिन-भर ऑफिस में कार्य करते हैं| अब हमारे पास एक दूसरे से बात करने के लिए उतना समय नहीं होता है जितना कभी हुआ करता था| और इसी के साथ एजाइल आता है और हमें अपने काम पूरे करने और एक बहुत ही सरल तरीके से आपसी संवाद को सुधारने व उसे बेहतर बनाने के लिए एक अद्भुत टूल या साधन प्रदान करता देता है| तो फिर क्यों न इसका उपयोग किया जाय?!

हम निश्चित रूप से टास्क बोर्ड को परिवार की टास्क्स (जिन्हें पूरा करने की ज़रूरत है) के प्रबंधन के लिए उपयोग करेंगे लेकिन वास्तविक उद्देश्य उन टास्क्स पर बातचीत शुरू करना है| हम दैनिक रूप से इकट्ठा होने का उपयोग करते हैं जब हम टास्क्स के बारे में चर्चा करते हैं ताकि परिवार में एक क्वालिटी समय अवधि विकसित की जाए जिसमें हम आपस में बात कर सकें, अपनी बात कह सकें और एक दूसरे की बात सुन सकें|

यह दैनिक कार्यों और बच्चों की टास्क्स जो महत्वपूर्ण हैं उन्हें प्रदान करना नहीं हैं| यह बच्चों और परिवार के लक्ष्यों को समझने, सुने जाने, फीडबैक पाने, माता-पिता या अभिभावकों से संवाद करने, गलतियां करने व उसमें सुधार करने और विज़ुअलाइज़ेशन (कल्पना) टूल्स का उपयोग करके आगे के मार्ग को देखने की योग्यता है| टास्क्स को पूरा करना तो इसका बाय-प्रॉडक्ट है (एक बहुत महत्वपूर्ण परिणाम!)| यह वही माइंडसेट टूल है जिसे हम सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट में उपयोग करते हैं लेकिन यहाँ यह लक्ष्य बन गया है|

हम ऐसा विश्वास करते हैं कि एजाइल के स्व-प्रेरणा और संवाद टूल्स हमारे बच्चों को भविष्य में उनके कार्यों को पूरा करने में बहुत सहायता करेंगे और यह हमें एक बेहतर एवं खुश परिवार बनने में भी हमारी सहायता करेंगे| और सबसे महत्वपूर्ण कि यह स्वयं हमारी और हमारे परिवार को प्रगति एवं विकास के मार्ग पर ले जायेंगे|

यह वास्तव में कार्य करता है| एजाइल तकनीकों का घर, स्कूल और बच्चों के साथ उपयोग करना बहुत अच्छी तरह काम करता है और इसके काम करने का मुख्य कारण यह है कि यह प्रोजेक्ट मैनेजमेंट बिल्कुल भी नहीं है यह तो केवल व्यवहार कुशलताएँ (soft skills) हैं|


Sanjeev Sharmaहिंदी ट्रांसलेशन (Hindi Translation)
संजीव शर्मा (Sanjivv Ssharma, PMP, CSM), 
square-linkedin-128      square-twitter-128      square-facebook-128     email-128