हिन्दी ब्लॉग्स

एजाइल किड्स फीडबैक 3: “एजाइल किड्स” ने हमें टास्क व टाइम मैनेजमेंट सिखाया…

एजाइल किड्स फीडबैक 3: “एजाइल किड्स” ने हमें टास्क व टाइम मैनेजमेंट सिखाया…

यह फीडबैक परिधि शुक्ला द्वारा उपलब्ध कराया गया है जिन्होंने एजाइल किड्स फीडबैक २ भी उपलब्ध कराया था| यह उसी ट्रेनिंग क्लास का पूरा फीडबैक है जो परिधि को ट्रेनिंग की समाप्ति पर ट्रेनी पार्टिसिपेंट्स से प्राप्त हुआ| “एजाइल किड्स” में बताये इस सरल टास्क बोर्ड से हमें हमारा टाइम मैनेजमेंट करने में बहुत हेल्प मिल रही है| अपनी टास्क्स[Read More…]

द स्क्रम गाइड एक परिचय…

द स्क्रम गाइड एक परिचय…

स्क्रम गाइड के बारे में जानने से पहले हम scrum.org, केन श्वाबर, जेफ़ सदरलैंड और स्क्रम के बारे में जानते हैं| Scrum.org: केन श्वाबर ने 2009 में Scrum.org को बनाया गया था| Scrum.org वे सभी टूल्स और साधन प्रदान करने का प्रयास करता है जिनकी एजाइल के क्षेत्र में कार्य करने वाले प्रैक्टिशनर्स व एक्सपर्ट्स को ज़रूरत होती है ताकि वे स्क्रम[Read More…]

स्क्रम एक परिचय

स्क्रम एक परिचय

वैश्विक स्तर पर एजाइल इम्प्लीमेंटेशन के लिए स्क्रम एक सबसे प्रचलित और पसंदीदा एजाइल फ्रेमवर्क है| हालांकि स्क्रम एक बहुत ही सरल प्रोसेस है, जिसे समझना और इम्प्लेमेंट करना बहुत ही आसान होता है लेकिन फिर भी यह बड़े व जटिल प्रोजेक्ट्स को मैनेज करने के लिए बहुत ही उपयोगी है| किसी भी ऑर्गेनाइजेशन या टीम में एजाइल की शुरुआत[Read More…]

एजाइल किड्स फीडबैक 2: एजाइल से हमारी सभी आवश्यक टास्क्स अब समय पर पूर्ण हो पाती है…….

एजाइल किड्स फीडबैक 2: एजाइल से हमारी सभी आवश्यक टास्क्स अब समय पर पूर्ण हो पाती है…….

यह फीडबैक परीधि शुक्ला द्वारा उपलब्ध कराया गया है, जिन्होंने “एजाइल किड्स” बुक की कॉपी खरीदी है और वे इसे पढ़कर अपने दैनिक कार्यों का प्रबंधन करने में एजाइल का उपयोग कर रही हैं| परीधि एक विद्यार्थी हैं और साथ ही वह ब्यूटी-पार्लर से सम्बंधित ट्रेनिंग भी देती हैं| परीधि स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत एक संस्था द्वारा चलाये जा[Read More…]

एजाइल किड्स फीडबैक 1: एजाइल किड्स ने मुझे आत्मचिंतन का एक टूल प्रदान किया है……

एजाइल किड्स फीडबैक 1: एजाइल किड्स ने मुझे आत्मचिंतन का एक टूल प्रदान किया है……

एक पिता द्वारा यह फीडबैक मेरे लिए एक बहुत सुखद आश्चर्य की बात थी, जिन्हें मैंने यह पुस्तक एक उपहार स्वरूप दी थी| इस बारे में उन्ही के शब्दों में बयान करूं तो ज्यादा बेहतर होगा: आपके उपहार का सम्मान करते हुए और पुस्तक के विषय के प्रति उत्सुकता व इसके हिंदी लैंग्वेज में होने के कारण मैंने इसे पढ़ना[Read More…]